Our Blog

How to Control Night Fall

Image

वैसे तो कई सारी बीमारिया होती रहती है मगर पुरुषो में एक स्वप्रदोष की दिक्कत बहुत पाई जाती है । सोते समय अगर आपके वीर्य निकल रहा है तो उसे सर्वे प्रदोष की बीमारी कहते है। वैसे अगर आप कोई यूवा है तो यह एक आम बात है ज्यादा तर युवा में ऐसा पाया जाता है। नाईट फॉल से अगर आप परेशां है तो इसके बारे में बता दू यह कोई बीमारी नहीं है बल्कि यह एक प्राकर्तिक क्रिया है। किशोरावस्था से युवावस्था में जब जाते है तभी से यह समस्या के शिकार होते है। नाईट फॉल की परेशानी का मुख्य कारन है जभी आप कभी अश्लील किताबे के पढ़ने से पोर्न मूवी देखने से होता है और इससे रात में सोते समय नाईट फॉल होने लागत है। लेकिन विशेसग्यो की राय सुने तो नाईट फॉल के अहम् कारड है जैसे - हस्थमैथुन, मानसिक मैथुन , प्राकर्तिक विरुद्ध मैथुन, उष्ण आहार, अश्लील वातावरण और मादक चीज़ो का अधिक सेवन से नाईट फॉल हो जाता है। इसके बाद अगर कोई व्यक्ति कम उम्र में भी अपनी से ज्यादा उम्र की महिला के साथ सम्बन्ध बनता है और अगर उसकी काम वासना पूरी नहीं होती तो वह व्यक्ति नाईटफॉल का शिकार हो जाता है। अगर आपके महीने १ या २ बार निघतफल हो रहा है उसके लिए घबराना नहीं चाहिए यह आम बात है। वैसे तो यह समस्या आपकी शादी के बाद खुद ही समाप्त हो जाती है। मगर फिर भी अगर यह समस्या बानी रहती है तो आपको किसी विशेषज्ञ से समस्या का हल लेना चाहिए।

अगर आपके महीने में २ बार से ज्यादा नाईट फॉल हो रहा है तो उसके मुख्या रूप से कई कारड हो सकते है -

1- अश्लील कल्पनाए

अगर आप कोई अश्लील चिंतन करते है तो उसका प्रमुख कारड है नारी स्मराद करना या अश्लील फिल्मे देखना है। और यही कारड है जो स्वपनदोष का कारड बनते है। हलाकि कई बार सेक्स के बारे में सोचे बगैर नाईट फॉल हो जाता है।

Ling Ko Mota Kaise Kare

2 - साथी से दूरी

किसी करड वर्ष अगर आप अपने प्रेमिका या पत्नी से दूर है और किसी तरह का सम्बन्ध नहीं बना पा रहे है तो नाईट फॉल हो सकता है। प्रेमी - प्रेमिका के बारे में सोचने से भी स्वप्न दोष है।

3 - ख़राब खान - पान और पेट में कब्ज

अगर आपके पेट में कब्ज रहता है और नाड़ी तंत्र की दुर्बलता भी इस समस्या का एक बहुत ही अहम् कारड है। साथ ही अगर आप बहुत ज्यादा मिर्च मसलो का प्रयोग करते है तो सुस्वाद व गरिष्ठ भोजन तथा विलासता पुराद रहन सहन भी इस समस्या का एक मुख्या कारड है। और अगर आप सोने से पहले अधिक मात्रा में भोजन ग्रहड़ करते है तो भी यह एक बहुत अहम् कारड है।

4 दूध का अधिक सेवन

अगर आप अधिक मात्रा में दूध का या मेवे मिठाई का सेवन करते है तो यह बहुत बड़ा मुख्य कारड़ बन सकता है नाईट फॉल होने का। और अगर आप सोने से पहले खाना का रहे है तो भी बहुत बड़ा मुख्य करद बन सकता है।

5 मानसिक दबाव के कारड

कभी-कभी अगर आप किसी गहरी सोच में डूबे होते हो तो आपका सरीर बहुत शिथिल हो जाता है, जिसके कारड सरीर के अंग प्रतंग की कार्यप्रणाली पर दिमाग का कंट्रोल कम हो जाता है। और अंत में ऐसे में नाईट फॉल होने के चान्सेस बड़ जाते है।

ling ko bada karne ka upay

नाईट फाल से कैसे सावधान रहे

नाईट फॉल से मुक्ति के लिए आपको दवा से पहले अपने खयालो और विचारो को शुद्ध करना बहुत जरूरी है लेकिन सवाल यह उठता है की वो कैसे करे ? तो अगर आप अपने खयालो में शुद्धि रखते है तो नाईट फॉल की समस्याओ से दूर हो सकते है, इसके लिए आप अपने आपको ज्यादा समय व्यस्त रखे। अगर आप अकेले में रहते है तो आपके दीमक में अपने आप अश्लील विचार आने लगते है। और नाईट फॉल की समस्याओ से आपके पेट में कब्ज रहने की भी समस्याए बानी रहती है। तो नाईट फॉल रोकने के लिए इन बातो का ध्यान जरूर रखे।

  • 1) यह एक मानसिक बीमारी है तो आपको अपने मन को पवित्र रखे।

  • 2) ठन्डे पानी से नहाए

  • 3) रात को गर्म दूध न पीये

  • 4) रात्रि को सोने से पहले आप अपने पेअर को ठन्डे पानी से धो कर सोए

  • 5) उत्तेजित करने वाले साहित्य को ना पढ़े

  • 6) सप्ताह में अगर एक बार हस्थमैथुन करते है तो कोई परेशानी नहीं है

  • 7) सोने से ३ घण्टे पहले ही खाना खा ले

  • 8) हमेशा सीधा सोने की कोशिश करे

  • 9) रात में अच्छे विचारो के लिए आप कोई अच्छी पुस्तक को ही पढ़े

  • 10) अगर आप नियमित रूप से त्रिबंध प्राणायाम, योगासन, ब्रह्ममुहूर्त करने से भी लाभ मिलता है।

  • 11) अगर कब्ज है तो उसका इलाज तुरंत करवाए

  • 12) अपने गुप्तअंग के आस पास के बालो को बढ़ने न दिए जाए

  • 13) खाना खाने के बाद पेशाब जरूर करे।

  • 14) गुप्तांग की चमड़ी को हटा करके रोजाना साफ़ करे

  • 15) रात्रि में सोने से पहले अंडरवियर को ना पहने और कोई हल्का या ढीला कपडा ही पहने और हाथ पेअर होर कर ही सीधे कमर के बल पर ही सोये।

तो मैंने आपको यहाँ कुछ ऐसे प्रमुख करद बताए जिससे आप अपने नाईट फॉल जैसे समस्याओ को दूर कर सकते है। और अधिक जानकारी के लिए हमारे विशेषज्ञों से भी बात कर सकते है।